AstroSage Kundli App Download Now
Personalized
Horoscope

गुरु गोचर 2018

Last Updated: 12/1/2017 11:41:44 AM

Subscribe Magazine on email:     

राहु गोचर 2018 वैदिक ज्योतिष में बृहस्पति को धर्म, ज्ञान, संतान, वैवाहिक जीवन, गृहस्थ शांति और पेट संबंधी रोगों का कारक कहा जाता है। बृहस्पति देवताओं के गुरु हैं। यदि बृहस्पति की स्थिति जन्मकुंडली में ठीक नहीं हो तो बृहस्पति देव अनिष्ठ कारी फल देते हैं। इस साल बृहस्पति देव ज्यादातर समय तुला राशि में गोचर करेंगे। 09 मार्च 2018 शनिवार को बृहस्पति देव वक्री होंगे और 10 जुलाई 2018 तक इसी अवस्था में रहेंगे। 11 जुलाई को गुरु ग्रह फिर से मार्गी हो जायेंगे। 12 नवंबर से 10 दिसम्बर 2018 के बीच सूर्य के निकट रहने से बृहस्पति ग्रह अस्त हो जाएगा। अस्त होने से बृहस्पति का प्रभाव कम हो जाएगा। 12 अक्टूबर 2018 को गुरु ग्रह तुला राशि को छोड़ कर वृश्चिक राशि में प्रस्थान करेंगे। जिसके प्रभाव से शुभ फल की प्राप्ति होगी परन्तु दुर्घटनाओं की आशंका भी बनी रहेगी। आइये जानते हैं वर्ष 2018 में सभी 12 राशियों पर बृहस्पति के गोचर का क्या प्रभाव होगा?

मेष

साल 2018 में बृहस्पति का गोचर तुला राशि में होगा। इस दौरान बृहस्पति देव मेष राशि से सप्तम भाव में गोचर करेंगे। इसके प्रभाव से इस वर्ष आपको आर्थिक लाभ होगा। शुभ कार्य के लिए यात्रा की सम्भावना बनेगी। अविवाहित जातकों को विवाह के प्रस्ताव मिलेंगे। नौकरी पेशा लोगों को अपने अधिकारियों से प्रशंसा एवं लाभ मिलेगा। बड़े - बड़े लोगों से मिलने का अवसर प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग को परीक्षा में सफलता प्राप्त होगी। अगर आप विदेश जाकर पढ़ाई करने के इच्छुक हैं तो इस वर्ष सफलता मिलने की सम्भावना बन रही है। इस वर्ष जीवनसाथी के स्वास्थ्य एवं संतान के स्वास्थ्य का ख्याल रखना अति आवश्यक है। मार्च में बृहस्पति देव वक्री गति से चलेंगे जो मेष राशि वालों के लिए थोड़ा कठिनाइयों भरा समय रहेगा। इस अवधि में आप किसी संपत्ति में लिखा - पढ़ी का कार्य न करें अन्यथा धोखा हो सकता है। अक्टूबर में बृहस्पति देव वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। आपको व्यापार में अल्प लाभ एवं ऋण की सम्भावना रहेगी। शारीरिक एवं मानसिक बल बढ़ेगा। अचानक धन लाभ होगा। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें, रक्त विकार एवं दुर्घटना से बचें।

उपाय: बृहस्पति वार का व्रत करें एवं केसर का तिलक माथे पर लगाएं

वृष

इस वर्ष बृहस्पति आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेंगे। आपको संयम से काम लेना होगा ये समय थोड़ा कठिनाइयों वाला होगा। अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें। आपको इस वर्ष कर्ज से छुटकारा मिल सकता है। नौकरी पेशा लोगों को कार्यस्थल पर कठोर परिश्रम करना पड़ सकता है। स्थानांतरण की सम्भावना बन रही है। विद्यार्थियों को अत्यधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी अन्यथा शिक्षा में अवरोध की सम्भावना रहेगी। जीवन साथी से विवाद न करें। मार्च में बृहस्पति के वक्री होते ही आपको परीक्षा एवं शिक्षा में सफलता मिलने की संभावना है। इस समय में आप अत्यधिक ऊर्जावान एवं सक्रिय रहेंगे। अविवाहित जातकों को शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। घर में मांगलिक कार्यक्रम होंगे। आपको इस समय शेयर बाजार में निवेश एवं सट्टे आदि से बचना चाहिए। कुल मिलाकर समय अनुकूल है सफलता की प्राप्ति होगी।

उपाय: पीली वस्तुओं का यथाशक्ति दान देना हितकारी होगा। जल में हल्दी मिलाकर पीपल के पेड़ पर चढ़ाएं।

मिथुन

इस वर्ष बृहस्पति आपकी राशि से पंचम भाव में भ्रमण करेंगे। आपको हानि के बजाय उन्नति होगी। घर में नए सदस्य का आगमन होगा। आपकी उन्नति से शत्रु पक्ष बैर भाव रखेगा। मन में अशांति रह सकती है। व्यापारी वर्ग को व्यवसाय में साधारण लाभ होगा हानि की सम्भावना अधिक रह सकती है। बंधु - बांधवों का विरोध झेलना पड़ सकता है। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। विद्यार्थियों को सफलता प्राप्त होगी। उच्च शिक्षा के लिए नए द्वार खुलेंगे। अच्छे समय का लाभ उठायें। जीवनसाथी से संबंधों में प्रेम की भावना रहेगी। प्रेमी वर्ग अपने प्यार का इजहार करेंगे। मार्च में बृहस्पति के वक्री होते ही शांति मिलेगी एवं समस्या का समाधान निकलेगा। इस काल में आपको अनेक यात्राओं का सुअवसर प्राप्त होगा परन्तु व्यवसाय के सिलसिले में होने वाली यात्रा में सावधानी बरतें। अक्टूबर में बृहस्पति वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। इसके प्रभाव से कोर्ट केस में विजय की सम्भावना बनेगी और स्वास्थ्य ठीक रहेगा। नौकरी पेशा लोगों को मनचाहे स्थान पर स्थानांतरण होने की सम्भावना बनेगी।

उपाय: विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करें। बच्चों को शिक्षा सामग्री भेंट स्वरूप दें।

कर्क

इस वर्ष बृहस्पति आपकी राशि से चतुर्थ भाव में भ्रमण करेंगे। चौथे गुरु अच्छा फल नहीं देते। परिवार में रहते हुए भी आप अकेलापन महसूस करेंगे। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। अच्छी सेहत के लिए दिनचर्या में सुबह की सैर एवं योग शामिल करें। अचल संपत्ति प्राप्त होने की सम्भावना बनेगी। अगर कहीं जमीन फँसी है तो ये समय आपके लिए अनुकूल है। विद्यार्थियों के अध्ययन के लिए बहुत अच्छा समय है। आज की मेहनत कल आपको अच्छी सफलता दिला सकती है। माता जी की ओर से सहयोग और लाभ होगा। नौकरी पेशा लोगों के लिए समय अच्छा है। सोची समझी योजना से आप सफलता प्राप्त करेंगे। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। भाई - बहनों से लड़ाई-झगड़े की संभावना बनेगी। व्यापारिक क्षेत्र में उन्नति एवं लाभ की संभावना रहेगी परन्तु घर का सुख चैन आराम छोड़ना पड़ेगा। लोगों की निंदा पर ध्यान मत दें। मार्च में बृहस्पति वक्री हो जायेंगे जो संतान के स्वास्थ्य को ख़राब कर सकते हैं। आय से अधिक व्यय की स्थिति रहेगी। परिवार में अनबन रहेगी। भाई-बहनों से सम्बन्ध अच्छे नहीं रहेंगे। घर में मंगल कार्य की सम्भावन बनेगी। अक्टूबर में बृहस्पति का गोचर आपके पांचवे भाव में होगा जो शिक्षा के क्षेत्र में विद्यार्थियों को लाभ दिलाएगा। संतान प्राप्ति की सम्भावना बनेगी। बेरोजगार लोगों को नौकरी मिलेगी। परन्तु इस दौरान नौकरी पेशा लोगों को साधारण धन लाभ होगा। मन असंतुष्ट रहेगा। खान पान में चिकनाई युक्त चीजों से परहेज करे अन्यथा लिवर में परेशानी की सम्भावना बनेगी।

उपाय: अपने जन्मदिन पर अपने वजन के बराबर पीली मिठाई या लड्डू का मंदिर या अनाथ आश्रम में दान दें।

सिंह

इस वर्ष बृहस्पति आपकी राशि से तृतीय भाव में भ्रमण करेंगे। इस वर्ष आपको कार्य में सफलता मिलेगी एवं वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा दृष्टि आप पर होगी। घर में मंगल कार्य होंगे। इस वर्ष आप अत्यधिक यात्राएं करेंगे जो आपके स्वास्थ को ख़राब कर सकती है अतः यात्रा के दौरान खान-पान का विशेष ध्यान रखें। अचानक धार्मिक यात्राओं का भी आप आनंद लेंगे। व्यापारी वर्ग को साधारण लाभ होगा। नौकरी पेशा जातकों को प्रमोशन मिल सकता है। विद्यार्थियों के लिए भी अच्छा समय है परीक्षा में सफलता प्राप्त होगी। पिता को कष्ट की सम्भावना रहेगी। मित्रों से विवाद करने से बचें अन्यथा संबंधों में दरार आ सकती है। जीवन साथी से मित्रतापूर्ण सम्बन्ध रहेंगे। मार्च में बृहस्पति के वक्री होने पर परिवार में वृद्धि एवं शुभ समाचार प्राप्त होगा। जायदाद के मामलों में झंझटें आ सकती हैं समय अनुकूल नहीं है। घर में कोई बीमार रह सकता है। नौकरी में अनबन एवं अनचाहे स्थानांतरण की सम्भावना बनेगी। अक्टूबर में बृहस्पति का राशि परिवर्तन आपके लिए साधारण रहेगा। मित्र मदद करेंगे। जायदाद के चक्कर में अदालती मामले चलने की संभावना रहेगी। विद्यार्थियों के लिए समय अनुकूल है अच्छा फल प्राप्त होगा। वाहन का सुख प्राप्त होगा। नयी ज़मीन लेने की सम्भावना बनेगी। व्यापार एवं नौकरी में साधारण लाभ होगा। संतान एवं माता को कष्ट हो सकता है।

उपाय: मंदिर में धार्मिक पुस्तकें दान करें।

कन्या

इस वर्ष बृहस्पति आपकी राशि से द्वितीय भाव में भ्रमण करेंगे। परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। घर में नए सदस्य का आगमन होगा। आपका मन भक्ति-भाव एवं धार्मिक कार्यों में लगेगा। ईश्वर में आस्था रहेगी। नौकरी पेशा जातकों को उन्नतिकारक परिणाम प्राप्त होंगे। व्यापारियों को व्यापार में धन लाभ होगा। इस समय आप सुखी एवं संपन्न रहेंगे। आर्थिक स्थिति मज़बूत होने से जीवन स्तर अच्छा रहेगा। बेरोजगार जातकों को नौकरी में सफलता प्राप्त होगी। विद्यार्थियों को शिक्षा में सफलता प्राप्त होगी जिससे सुख की अनुभूति होगी एवं मन प्रसन्न रहेगा। जीवन साथी से सुखद सम्बन्ध रहेंगे। मार्च में बृहस्पति के गोचर से अविवाहित जातक विवाह के बंधन में बंध जाएंगे। नौकरी पेशा की उन्नति होगी परन्तु इस समय में विश्राम करने का अवसर कम मिलेगा। अक्टूबर में बृहस्पति का राशि परिवर्तन व्यावसायिक यात्राओं में हानि एवं सुख में कमी करेगा। जीवन साथी का भाग्योदय होगा। नौकरी में अड़चन एवं अत्यधिक भागदौड़ का माहौल हो सकता है। कुटुंब एवं परिवार से अनबन रह सकती है।

उपाय: विष्णु मंदिर में बृहस्पति वार को केले चढ़ाएं।

तुला

इस वर्ष बृहस्पति देव आपकी राशि में ही भ्रमण कर रहे हैं। यह वर्ष आपके लिए भाग्योदय का कारक है। नौकरी पेशा लोगों को आर्थिक लाभ मिलेगा। आप अपने ज्ञान के बल पर उच्च पद पर आसीन होंगे। अविवाहित जातकों के घर विवाह की शहनाई बजने का समय है। जीवनसाथी का पूरा सहयोग आपको प्राप्त होगा। धार्मिक कार्यों में आपकी रूचि बढ़ेगी। परिवार में सुख - समृद्धि एवं आनंद का वातावरण निर्मित होगा। आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। अपने मन पर काबू रखें मन उदास रहेगा। वरिष्ठजनों से अनबन की सम्भावना रहेगी। व्यापार में धन लाभ होगा। विद्यार्थियों को परीक्षा में सफलता मिलेगी एवं उनका मनोबल बढ़ा-चढ़ा रहेगा। मार्च में बृहस्पति के वक्री होने पर अपव्यय के कारण आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। विदेश जाने की सम्भावना बनेगी। घर में असंतोष का वातावरण रह सकता है। अक्टूबर में बृहस्पति का गोचर आपकी राशि से दूसरे भाव में होगा जो व्यापार में उन्नति कराएगा। आप अपने ऑफिस एवं दोस्तों के बीच लोकप्रिय रहेंगे। धन एवं सुखों में वृद्धि होगी। घर में मांगलिक कार्य एवं पारिवारिक सुख प्राप्त होगा।

उपाय: किसी गरीब ब्राह्मण कन्या के विवाह में कुछ आर्थिक मदद करें ।

वृश्चिक

इस वर्ष बृहस्पति देव आपकी राशि से बारहवे भाव में गोचर करेंगे। इस वर्ष आपको संयम से कार्य लेना होगा। खर्च की अधिकता रहेगी। आप आर्थिक तंगी से गुजरेंगे। आपके अपने विश्वासपात्र भी धोखा दे सकते हैं। प्रियजनों से वियोग हो सकता है। वैवाहिक सुख में भी कमी आएगी। नौकरी पेशा लोगों को व्यर्थ की यात्रा करनी पड़ सकती है। व्यापार या नौकरी के कार्य से विदेश जाने का सुअवसर प्राप्त होगा। आप मुकदमेबाजी में फँस सकते हैं व्यर्थ के विवाद से बचें। शारीरित कमजोरी रह सकती है। दोस्तों एवं समाज में अपशय मिलेगा अतः हर कार्य सोच-समझ कर करें। मार्च में बृहस्पति देव वक्री अवस्था में होंगे जो धन लाभ एवं प्रतिष्ठा में वृद्धि कराएँगे। दुर्घटना की आशंका रहेगी अतः सावधान रहें। अक्टूबर में बृहस्पति आप ही की राशि में भ्रमण करेंगे। इस दौरान मांगलिक उत्सव एवं सभी कार्य सुख पूर्वक होंगे।

उपाय: अपने वजन के बराबर किसी पीली वस्तु दान किसी वृद्धाश्रम या मंदिर में करें।

धनु

इस वर्ष बृहस्पति देव आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे। आप स्वस्थ्य रहेंगे एवं उत्साहित महसूस करेंगे। आपके भाई - बहन एवं मित्र आपका सहयोग करेंगे। आर्थिक रूप से आप खुश रहेंगे। नौकरी पेशा लोगों के रुके कार्य पूरे होंगे। व्यापारी वर्ग के लिए ये समय अनुकूल रहेगा। अविवाहितों जातकों के लिए विवाह के प्रस्ताव आएंगे। जीवनसाथी से रिश्ते सामान्य रहेंगे। मार्च में बृहस्पति वक्री होंगे इस वक्त आपको संयम से कार्य करना होगा कार्यस्थल पर विवाद एवं मान - हानि की सम्भवना उत्पन्न होगी। आर्थिक रूप से भी ये समय अच्छा नहीं रहेगा। व्यापार में साधारण लाभ मिलेगा। अक्टूबर में बृहस्पति आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेंगे, जो आपके मन में बेचैनी एवं चिंता की स्थिति उत्पन्न करेंगे। विद्यार्थियों का मन शिक्षा में नहीं लगेगा। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं एवं शत्रु बाधाओं से परेशानी होगी। घर में अशांति का माहौल बनेगा। अनावश्यक खर्चों में बढ़ोत्तरी होगी। आत्मीयजनों से विरोध बढ़ सकता है। विदेश जाने के योग बनेंगे। विदेश में सफलता प्राप्त होगी।

उपाय: गौ माता को बृहस्पतिवार को चने की दाल एवं गुड़ खिलाएं एवं गौ सेवा का संकल्प लें।

मकर

इस वर्ष बृहस्पति देव आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेंगे। बृहस्पति का गोचर आपके लिए सामान्य रहेगा। धन की प्राप्ति एवं उन्नति होगी। व्यापारियों को विदेश से लाभ होगा। बड़े - बड़े लोगों से मिलने का अवसर प्राप्त होगा। अच्छे कामों के लिए छोटी - छोटी यात्राएं होंगी। नौकरी पेशा जातकों को विदेश में नौकरी के अवसर प्राप्त होंगे। जीवनसाथी से अच्छी बनेगी। विद्यार्थियों को शिक्षा के अवसर प्राप्त होंगे। मार्च में बृहस्पति के वक्री होने पर शिक्षा के क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। विदेश में पढ़ाई के इच्छुक छात्रों को विदेश जाकर पढ़ने का अवसर प्राप्त होगा। बहन के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। अक्टूबर में बृहस्पति आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान अविवाहितों जातकों के विवाह की सम्भावना बनेगी। व्यवसाय में लाभ होगा। अगर आपने लॉटरी या शेयर मार्किट में निवेश किया है तो लाभ की सम्भावना बन रही है।

उपाय: बच्चों के अनाथ आश्रम में किताब - कॉपियों एवं शिक्षा सामग्री का दान करें।

कुम्भ

इस वर्ष बृहस्पति देव आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करेंगे। शिक्षा, प्रकाशन क्षेत्र से जुड़े लोगो के लिए समय अच्छा है। आपको यश की प्राप्ति होगी। परिवार में सुख समृद्धि रहेगी। धन की कमी परन्तु मान-सम्मान एवं सुख शांति की अधिकता रहेगी। नौकरी पेशा जातकों को विदेश में जॉब के अवसर मिलने की सम्भावना बनेगी। जीवन साथी के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। इस समय धार्मिक यात्रा होगी। संतान की प्राप्ति होने की सम्भावना बन रही है। आपको लम्बी यात्रा पर जाने का अवसर प्राप्त होगा। आपका धार्मिक कार्यों में अधिक धन व्यय होगा। मार्च में बृहस्पति का वक्री गति होने पर आप थोड़े बेचैन रहेंगे। शत्रु हावी होने की कोशिश करेंगे। अनेक परेशनियों का सामना करना पड़ सकता है अतः संयम से काम लें एवं अच्छे वक्त का इंतजार करें। इस वक्त निवेश न करने में ही भलाई है अन्यथा हानि होने की सम्भवना रहेगी। अक्टूबर में बृहस्पति आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेंगे। जो आपके लिए अच्छा रहेगा। इस समय में भाग्य आपका साथ देगा। नौकरी में प्रमोशन एवं आर्थिक रूप से सफलता प्राप्त होगी। संतान पक्ष को कष्ट हो सकता है।

उपाय: विष्णु जी के मंदिर में बृहस्पति वार को पांच पीले लड्डुओं का दान करें।

मीन

इस वर्ष बृहस्पति का गोचर आपकी राशि से आठवें भाव में होगा। यह समय आपके अनुकूल नहीं है। नौकरी एवं कार्य स्थल पर परेशानी और रुकावट आ सकती है। इस वर्ष अचानक धार्मिक यात्रा करनी पड़ सकती है। आध्यात्मिकता और प्राणायाम से आपको मानसिक शांति मिलेगी। तंत्र - मंत्र जैसे कार्यों में आपकी रूचि बढ़ेगी। वसीयत से संपत्ति प्राप्त होने की सम्भावना बनेगी। अचानक धन प्राप्ति होगी। आपको अत्यधिक खर्चे पर संयम रखना चाहिए अन्यथा कर्जे की सम्भावना रहेगी। विद्यार्थियों को पढाई में अत्यधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी है अन्यथा इस साल परीक्षा फल आपकी आशा के विपरीत होगा। मार्च में बृहस्पति की वक्री स्थिति, आपके जीवन में थोड़ी आशा की उम्मीद लेकर आएगी। जीवन साथी के स्वास्थ्य में लाभ एवं परिवार में शांति रहेगी। छात्रों को अपने प्रयासों में सफलता मिलेगी। अगर आप अदालती मामलों में फंसे हैं तो आपको उत्तम समाचार मिलने की संभावना है। अक्टूबर में बृहस्पति आपकी राशि से भाग्य स्थान में गोचर करेंगे। यह समय आपके अनुकूल होगा और भाग्य आपका साथ देगा। विदेश जाने के अवसर प्राप्त होंगे। शुभ कार्य के लिए यात्रा की सम्भवना बनेगी।

उपाय: कांसे के बर्तन में घी भरकर पात्र दान करें।

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोकैंप ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
More from the section: Horoscope
2469
Big Horoscope 2017
Buy Today
Gemstones
Get gemstones Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com More
Yantras
Get yantras Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com More
Navagrah Yantras
Get Navagrah Yantras Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com More
Rudraksha
Get rudraksha Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com More
Today's Horoscope

Get your personalised horoscope based on your sign.

Select your Sign
Free Personalized Horoscope 2017
Reports