AstroSage Kundli App Download Now
  • Trikal Samhita
  • AstroSage Big Horoscope
  • Raj Yoga Report
Personalized
Horoscope

शनि गोचर 2019

Last Updated: 10/18/2018 4:38:04 PM

Subscribe Magazine on email:     

शनि गोचर 2018 शनि गोचर 2019 आपके जीवन में ऐसे कई अप्रत्याशित बदलाव लेकर आएगा। यह आपके व्यक्तिगत जीवन के साथ साथ प्रोफेशनल लाइफ पर प्रभाव डालेगा। ज्योतिष शास्त्र में शनि ग्रह को पापी ग्रह कहा गया है। लेकिन यह जातकों को उनके कर्मों के अनुसार ही फल देता है। इसलिए इन्हें न्याय के देवता के रूप में भी जाना जाता है। सभी 9 ग्रहों में से शनि की चाल सबसे धीमी है। ज्योतिष विज्ञान में बताया गया है कि शनि ग्रह मनुष्य जीवन के कर्म, सेवा एवं नौकर चाकर आदि का कारक होता है और यह मकर और कुंभ राशि का स्वामी ग्रह है।

शनि वर्ष 2019 में धनु राशि में ही स्थित रहेगा। लेकिन 30 अप्रैल को शनि ग्रह वक्री गति करेगा और 18 सितंबर को धनु राशि में पुनः मार्गी होगा। इसी वर्ष शनि 20 जनवरी तक यह अस्त रहेगा। इस समय इसका प्रभाव कम हो जाएगा। वहीं साल के अंत में 27 दिसंबर को शनि पुनः अस्त होगा और 31 जनवरी 2020 तक इसी स्थिति में रहेगा। आईये जानते हैं साल 2019 में शनि की स्थिति आपके जीवन को किस तरह प्रभावित करेगी, साथ ही आपके करियर, नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा और पारिवारिक जीवन पर इसका क्या असर होगा।

मेष

शनि गोचर 2019 में शनि ग्रह आपकी जन्म कुंडली में दसवें और ग्यारहवें भाव का स्वामी होगा। शनि की यह स्थिति आपके लिए अनुकूल नहीं होगी। इस समय आपके शत्रुओं की ताक़त बढ़ सकती है। लेकिन अक्टूबर के बाद आप उन पर हावी होंगे। इसलिए आपको सही समय का इंतज़ार करना होगा। कार्यक्षेत्र में सफलता पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। आय में कमी हो सकती है। इसलिए आपको अपने खर्चों में भी कमी करनी होगी। अक्टूबर 2019 के बाद से परिस्थितियाँ आपके अनुकूल नज़र आएंगी। लेकिन शनि गोचर के प्रभाव से आपके प्रमोशन या इंक्रीमेंट में देरी हो सकती है। छोटे भाई बहनों को भी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। उनकी सेहत ही ख़राब हो सकती है। लिहाज़ा आपको उनकी सेहत का ख़्याल रखना होगा।

उपाय: गाय को घी लगी रोटी खिलाएं।

जानें वर्ष 2019 में होने वाले सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण का समय और तारीख - ग्रहण 2019

वृषभ

शनि ग्रह आपकी कुंडली में नौवें और दसवें भाव का अधिपति होगा। शनि की यह स्थिति आपके आर्थिक पक्ष के लिए शुभ नहीं है। इस समय आपको व्यापार में घाटा हो सकता है। इसलिए किसी नए बिजनेस में धन का निवेश न करें। वहीं करियर क्षेत्र के लिए गोचर शुभ संकेत दे रहा है। इस समय आपको जॉब में नए अवसर मिलेंगे। हालाँकि आपके निजी जीवन में व्यस्तता बढ़ जाएगी और इसके कारण आप अपनी फैमिली को कम समय दे पाएंगे। लेकिन आपको पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में तालमेल बनाकर चलना होगा। जून से अक्टूबर का समय नौकरी एवं व्यवसाय के लिए स्थिर रहेगा। फालतू के विवादों से ख़ुद को दूर रखें और इस समय संतान की पढ़ाई तथा पिताजी की सेहत पर भी ध्यान दें।

उपाय: काले कपड़े और जूते का दान करें।

मिथुन

शनि आपकी कुंडली में 8वें और 9वें भाव का स्वामी होगा। इस समय आपकी आपकी माता जी की सेहत ख़राब हो सकती है। इसलिए आपको उनकी सेहत का ख्याल रखना होगा। क़ानूनी मामलों में गोचर आपकी मदद करेगा। इस समय यदि आप किसी कानूनी मामले का सामना कर रहे हैं तो उसमें आपकी जीत होगी। वहीं निजी और पेशेवर जीवन में भी आपकी उन्नति होगी। यदि घर पर किसी तरह का विवाद चल रहा है तो उसके सुलझने की संभावना है। घर में शांतिपूर्ण वातावरण देखने को मिलेगा। आर्थिक स्थिति को और बेहतर बनाने के लिए आप धन निवेश करेंगे।

उपाय: मध्य अंगुली में काले घोड़े की नाल की अंगूठी पहनें।

कर्क

शनि आपकी कुंडली में 7वें और 8वें भाव का स्वामी होगा। इस समय आपको मानसिक तनाव की समस्या रह सकती है। ऐसे समय में आपको अपने दोस्तों के साथ समय बिताना चाहिए और उनके साथ अपनी समस्याओं को साझा करनी चाहिए। इससे आपका मन हल्का होगा। शनि गोचर के दौरान भाई बहनों को चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। ऐसी परिस्थिति में आपको उनकी मदद करनी होगी। शनि का गोचर आपकी सेहत पर प्रतिकूल असर डालेगा। इसलिए अपनी फिटनेस का भी ध्यान रखें। यात्रा के कारण आपको थकान भी हो सकती है।

उपाय: पक्षियों को सात तरह के अनाज खिलाएं।.

सिंह

सिंह राशि के जातकों की जन्म कुंडली में शनि छटे और सातवें भाव का स्वामी होगा। इस समय आप अपने दोस्तों के साथ छुट्टियाँ मनाने जा सकते हैं। प्रोफेशन में भी आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। नौकरी में प्रमोशन की प्रबल संभावना है। कार्यक्षेत्र में आप बिजी रहेंगे। लेकिन इस बीच अपनी सेहत का भी ध्यान रखें। वहीं फिजूल के ख़र्चों में भी लगाम लगाएँ। जो लोग बिजनेस स्टार्ट करने के बारे में सोच रहे है तो यह समय व्यापार को शुरु करने के लिए बहुत उत्तम होगा। छात्रों को गोचर का लाभ मिलेगा। यदि आप अविवाहित हैं तो इस आप अपनी शादी के बारे में विचार कर सकते हैं।

उपाय: पीपल के पेड़ के नीच सरसों के तेल का दीया जलाएं।

कन्या

इस वर्ष शनि ग्रह कन्या राशि के जातकों की जन्म कुंडली में पाँचवें और छटे भाव पर अपना अधिकार रखेगा। इस समय आपको करियर में लाभ मिलेगा। परंतु संभव है कि वैसा परिणाम न मिल पाए जैसा आप चाहते थे। इस समय आपकी लाइफ स्टाईल बहुत ही बिजी रहेगी। ऐसे में आपको अपनी सेहत का भी ध्यान रखना होगा। रोज़ाना योग-एक्सरसाइज करना फिटनेस के लिए अच्छा रहेगा। वही आप अपने निवास स्थान में परिवर्तन कर सकते हैं। वहीं छात्रों को पढ़ाई में ध्यान लगाने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है। इसलिए उन्हें अपने लक्ष्य को पाने के लिए अतिरिक्त और कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होगी। यदि आप किसी बिजनेस में इन्वेस्ट करने की सोच रहे हैं तो अपनी इस सोच में विराम लगाएं। क्योंकि समय इसके लिए अनुकूल नहीं है। इस समय आध्यात्म के प्रति आपकी रूचि बढ़ेगी।

उपाय: शनिवार के दिन हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाएं।

तुला

तुला राशि के लोगों की जन्म कुंडली के चौथे और पाँचवें भाव में शनि का अधिकार होगा। इस समय आप अपने व्यापार में विस्तार करेंगे और नौकरी में भी तरक्की होगी। शनि देव के आशीर्वाद से आपकी आर्थिक स्थिति भी पहले से बेहतर नज़र आएगी। आय में वृद्धि होगी। परंतु ख़र्चा भी बढ़ेगा। इसलिए पैसों का सही उपयोग करें और अपने फिजूल ख़र्चों पर लगाम लगाएँ। छात्रों को अच्छे परिणाम मिलेंगे। उच्च शिक्षा के लिए उन्हें किसी अच्छे कॉलेज या विश्वविद्यालय में दाखिला मिल सकता है। अपनी हैल्थ को फिट रखने के लिए रोज़ाना योग व्यायाम जिम या रनिंग करें।

उपाय: बंदर और कुत्तों को लड्डू खिलाएं।

वृश्चिक

इस वर्ष वृश्चिक राशि के तीसरे और चौथे भाव में शनि ग्रह स्थित होगा। इस दौरान आपके जीवन पर शनि का विशेष प्रभाव देखने को मिलेगा। इस साल सफलता, धन और समृद्धि पाने के लिए आपको कड़ा परिश्रम करना होगा। करियर में बेहतर अवसर मिल सकते हैं या फिर कामकाज के सिलसिले में आपको विदेश यात्रा करने का अवसर भी मिल सकता है। हालांकि ये आप निर्भर करेगा कि इन अवसरों का लाभ आप कैसे उठाते हैं। इस वर्ष निवेश संबंधी मामलों में सफलता मिलने की संभावना है। क्योंकि निवेश से जुड़े मामलों में अच्छी सफलता मिल सकती है। शनि के गोचर के दौरान इस साल परिवार से जुड़े विवाद और मामलों में न उलझें। यही आपके लिए बेहतर होगा, क्योंकि विवाद में पड़ने से आपके रिश्ते प्रभावित हो सकते हैं। कुछ भी बोलने से पहले अच्छे सोचें और अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें अन्यथा विवाद की स्थिति पैदा हो सकती है।

उपाय: रोगियों की सेवा करें।

धनु

साल 2019 में शनि धनु राशि में स्थित रहेगा। लेकिन यह आपकी कुंडली में द्वितीय और तृतीय भाव का स्वामी होगा। इस समय शनि आपके जीवन पर गहरा प्रभाव डालेगा। इस अवधि में आप कोई निवेश संबंधी योजना बना सकते हैं। निजी तौर पर आपको अपनी वाणी पर संयम रखना होगा। उधर, वैवाहिक जीवन में भी संभलकर चलने की जरुरत होगी। यदि दांपत्य जीवन में किसी प्रकार का विवाद है तो उस विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाएं। अगर आप काम के प्रति ईमानदार हैं तो इस अवधि में आप कार्यस्थल पर अच्छा कार्य करेंगे और अपने काम से आपको खुशी मिलेगी। हालांकि आवश्यकता से अधिक कार्य या काम का बोझ आपके लिए तनाव का कारण बन सकता है। इसलिए काम से थोड़ा समय निकालकर परिवार या मित्रों के साथ घूमने जाएं। इस समय अपनी सेहत पर भी पूरा ध्यान दें।

उपाय: मांसाहार और शराब के सेवन से परहेज करें।

मकर

शनि ग्रह मकर राशि का स्वामी होता है। गोचर के दौरान यह आपकी कुंडली के लग्न और दूसरे भाव का स्वामी होगा। इस समय आपको अपनी सेहत का विशेष ख़्याल रखना होगा। छात्र उच्च शिक्षा के लिए विदेश जा सकते हैं। शनि का गोचर आपकी प्रोफेशनल लाइफ पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा। इस दौरान आप अपने करियर जीवन में संघर्ष कर सकते हैं। आर्थिक जीवन सुचारू रूप से चलता रहे, इसके लिए आपको अर्थ प्रबंधन की आवश्यकता पड़ेगी। अनैतिक और गैरक़ानूनी कार्यों से दूरी बनाएँ रखें। नौकरी-व्यापार हेतु आपको विदेश जाने का अवसर मिल सकता है।

उपाय: जटा वाले नारियल नदी में प्रवाहित करें। हनुमान चालीसा का पाठ करें।

जानें वर्ष 2019 के लिए क्या कहता है आपके भाग्य का सितारा - राशिफल 2019

कुंभ

शनि गोचर 2019 आपके लिए शुभ संकेत दे रहा है। शनि आपकी कुंडली के लग्न एवं बारहवें भाव का स्वामी होगा। इस समय आपके रिलेशनशिप में मजबूती आएगी। वहीं जीवनसाथी के साथ रोमांस करने का सुनहरा अवसर मिलेगा। करियर में उन्नति के लिए अच्छे अवसर आएंगे और आप इन अवसरों को भुना पाने में भी सफल रहेंगे। शारीरिक और मानसिक रूप से आप सेहतमंद रहेंगे। आध्यात्मिक ज्ञान के प्रति आप रुचि लेंगे। इस वर्ष शनि देव की कृपा दृष्टि आपके ऊपर रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। अपने पार्टनर से अधिक अपेक्षा न रखें। यदि आप बिजनेस करते हैं तो उसमें आपको जबरदस्त मुनाफा मिलेगा। छात्रों को अपनी पढ़ाई पर ही फोकस करना होगा।

उपाय: मंदिर में सरसों के तेल का दान करें।

मीन

मीन राशि के जातकों की कुंडली में शनि देव एकादश और द्वादश भाव के स्वामी होंगे। ज्योतिष में एकादश भाव सफलता, वृद्धि और आय से संबंधित है और द्वादश भाव हानि और खर्च का बोध कराता है। इस समय आपको कड़े परिश्रम का फल मिलेगा। निवेश के लिए समय मिलाजुला रहेगा। वहीं नौकरी में परिवर्तन करना आपकी प्रोफेशनल ग्रोथ के लिए अच्छा रहेगा। शनि के गोचर की इस अवधि में आप विदेश की यात्रा कर सकते हैं। ध्यान रखें, आय की तुलना में आपके खर्च बढ़ सकते हैं इसलिए फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। आपको अपने वैवाहिक जीवन पर भी ध्यान देना होगा। जीवनसाथी के साथ बेवजह न उलझें। आप अपने दोस्तों या परिजनों के साथ छुट्टी पर कहीं घूमने जा सकते हैं।

उपाय: शनिवार के दिन काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।
More from the section: Horoscope
2604
Big Horoscope 2017
Buy Today
Gemstones
Get gemstones Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com More
Yantras
Get yantras Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com More
Navagrah Yantras
Get Navagrah Yantras Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com More
Rudraksha
Get rudraksha Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com More
Today's Horoscope

Get your personalised horoscope based on your sign.

Select your Sign
Free Personalized Horoscope 2018
Reports