AstroSage Kundli App Download Now
Personalized
Horoscope

केतु गोचर 2019

Last Updated: 9/20/2018 5:47:31 PM

Subscribe Magazine on email:     
ketu, gochar, ketu gochar

वैदिक ज्योतिष के अनुसार केतु एक छाया और रहस्यमयी ग्रह है। यह धर्म और आध्यात्मिक उन्नति का कारक माना जाता है। केतु के अशुभ प्रभाव से जहां मनुष्य को दुःख और हानि होती है वहीं यह अपने शुभ प्रभाव से व्यक्ति को देवता तक बना सकता है। केतु ग्रह तर्क, बुद्धि, ज्ञान और कल्पना आदि का कारक कहा जाता है। मनुष्य के शरीर में केतु अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करता है। केतु के प्रभाव से बेहतर स्वास्थ्य और धन-संपत्ति आदि की प्राप्ति होती है। केतु स्वभाव से एक क्रूर ग्रह माना गया है। इसे किसी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है। हालांकि यह तीन नक्षत्रों अश्विनी, मघा और मूल नक्षत्र का स्वामी है। केतु वृश्चिक व धनु राशि में उच्च भाव में होता है और वृषभ व मिथुन में नीच भाव में होता है। केतु को सूर्य व चंद्रमा का शत्रु कहा गया है। यह कुंडली में राहु के साथ मिलकर काल सर्प योग की स्थिति का निर्माण करता है।

7 मार्च 2019 को 2:48 बजे केतु धनु राशि में गोचर करेगा और डेढ़ वर्ष तक इसी राशि में स्थित रहेगा। 23 सितंबर 2020 को 5:28 बजे केतु धनु राशि से निकलकर वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। केतु के इस राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। आईये जानते हैं केतु गोचर 2019 का आपकी राशि पर क्या होगा असर?

Click here to read in English: Ketu Transit 2019

मेष

वैदिक ज्योतिष के अनुसार केतु आपकी राशि से नवम भाव में गोचर कर रहा है, यह दर्शन का भाव है। यह गोचर सामान्यतः आपके लिए अच्छा नहीं रहेगा। इस अवधि में आपको कुछ कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। मेष राशि के जातकों को हर निर्णय लेने से पहले अच्छे से सोचना होगा। केतु गोचर की इस अवधि में आपको आर्थिक परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। इस दौरान आपको धन हानि या नौकरी से संबंधित कोई दिक्कत आ सकती है। इसलिए धन से जुड़े मामलों में सावधानी से काम लें। बेहतर होगा कि पैसों के मामले में किसी भी व्यक्ति पर आंख मूंदकर विश्वास न करें। आपके व्यवहार थोड़ा रुढ़िवादी होगा। धर्म को लेकर आपकी रुचि में या तो वृद्धि होगी या फिर कमी आएगी। इसके अतिरिक्त केतु के इस गोचर के दौरान आपका पारिवारिक जीवन भी प्रभावित होगा। इस दौरान पिता के साथ आपका विवाद हो सकता है, इसलिए बेहतर होगा कि आप पिता का आदर और उनकी बातों का सम्मान करें। वहीं आपके पिता को सेहत संबंधी परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता, अतः उनका ख्याल रखें। परिवार से जुड़े हर मामले में धैर्य के साथ काम लें।

उपाय: काले तिल के बीजों को दान करें।

वृषभ

2019 में केतु का राशि परिवर्तन आपकी राशि से अष्टम भाव में होगा। यह भाव जीवन की चुनौतियों से संबंधित होता है, इसलिए केतु का यह गोचर वृषभ राशि के जातकों के लिए सामान्यतः अच्छा नहीं होगा। हालांकि इस अवधि में आध्यात्मिक विषयों के प्रति आपकी रूचि बढ़ सकती है। इस वर्ष आपकी सेहत पर असर पड़ सकता है इसलिए स्वास्थ्य को लेकर बिल्कुल लापरवाही न बरतें। बेहतर होगा कि संयमित दिनचर्या और संतुलित आहार का सेवन करें। वाहन चलाते समय भी सावधानी बरतें। क्योंकि केतु के इस गोचर के दौरान दुर्घटना की संभावना बन रही है। इस साल कम आय होने से कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है, अतः बेहतर वित्तीय प्रबंधन की जरूरत होगी। दूसरों के व्यवहार से दुःखी होने के कारण मानसिक तनाव बढ़ सकता है। इसलिए दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ विवाद से बचने की कोशिश करें। हर परिस्थिति में संयम के साथ काम लें और तनाव बिल्कुल न लें।

उपाय: तिल के तेल का दान करें

मिथुन

इस वर्ष केतु का राशि परिवर्तन आपकी राशि से सप्तम भाव में होगा। वैदिक ज्योतिष में सप्तम भाव वैवाहिक जीवन और व्यावसायिक साझेदारी आदि से संबंधित होता है। सप्तम भाव में केतु का गोचर मिथुन राशि के जातकों के लिए ज्यादा अच्छा नहीं रहेगा। इस वर्ष आपको वक्त और हालात को देखकर काम करना होगा। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको भाग्य का साथ मिलेगा। इस साल वैवाहिक जीवन में भी परेशानी और बुरे हालात का सामना करना पड़ सकता है। यह वह वक्त होगा जब आपको वैवाहिक जीवन में सबसे बुरे दौर से गुजरना होगा। इन चुनौतियों से निपटने के लिए बेहतर होगा कि आप संयम के साथ काम लें और अपने जीवनसाथी पर बेवजह शक न करें, साथ ही उनकी भावनाओं का सम्मान करें। एक-दूसरे के प्रति आपसी विश्वास होने से आपके वैवाहिक जीवन में मधुरता आएगी। केतु के गोचर के दौरान इस साल पैतृक संपत्ति से जुड़े विवाद होने की भी संभावना है। परिजन और रिश्तेदारों के साथ संबंधों में कड़वाहट बढ़ सकती है। इस साल आपकी प्रोफेशनल लाइफ प्रभावित होगी। नौकरी और व्यवसाय पर बुरा असर पड़ सकता है। बिजनेस पार्टनर के साथ होने की संभावना है।

उपाय: गणपति जी की आराधना करें और उन्हें हरा दुर्वा घास चढ़ाएं।

कर्क

2019 में केतु गोचर आपकी राशि से षष्ठम भाव में होगा। इसके फलस्वरुप कर्क राशि के जातकों को इस साल विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यस्थल पर काफी चुनौतियां देखने को मिल सकती है। नौकरी और व्यवसाय पर इसका असर पड़ सकता है। वहीं स्वास्थ्य की बात करें तो आपको कोई बड़ी सेहत संबंधी परेशानी हो सकती है। छोटे-मोटे स्वास्थ्य संबंधी विकार किसी बड़ी परेशानी का कारण बन सकते हैं इसलिए बिल्कुल लापरवाही न बरतें और ऐसी परिस्थिति में चिकित्सीय परामर्श अवश्य लें। बेहतर स्वास्थ्य के लिए संतुलित और पोषण युक्त आहार लें, बाहर का खाना खाने से परहेज करें। यदि आप स्वच्छ भोजन और नियमित रूप से व्यायाम करेंगे तो स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से बचाव होगा। इस साल आप बेवजह की चीज़ों पर आवश्यकता से अधिक खर्च कर सकते हैं, इसलिए बेहतर होगा कि आय और खर्च में संतुलन बनाने की कोशिश करें। इस साल आपको हर महीने अपना बजट तैयार करना पड़ सकता है और ऐसा करना धन की बचत के लिए अच्छा होगा।

उपाय: सच्चे मन से हनुमान जी की उपासना करें

सिंह

इस वर्ष केतु गोचर आपकी राशि से पंचम भाव में होगा। वैदिक ज्योतिष में पंचम भाव को हर्ष का भाव कहा जाता है। सिंह राशि के जातकों के लिए यह समय अवधि सामान्यतः अच्छी नहीं रहेगी। इस साल भाग्य का साथ मिलने की संभावना कम है। इसका तात्पर्य है कि आर्थिक मामलों में आपको कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। धन से संबंधित मामलों में किसी पर विश्वास न करें, क्योंकि कोई आपको धोखा दे सकता है। व्यवसाय में भी लेन-देन से जुड़े कार्यों में सावधानी बरतें। इस साल आपको धैर्य के साथ काम लेना होगा और बुरे हालात में भी संयम रखना होगा। अगर बात करें आपके प्रेम जीवन की तो, प्रियतम के साथ किसी बात को लेकर असहमति का भाव रह सकता है। किसी बात को लेकर आप एक-दूसरे से सहमत नहीं रहेंगे। हालांकि ऐसी स्थिति में मनमुटाव से बचने की कोशिश करें। केतु के गोचर के प्रभाव से इस साल अपनों के साथ आपके वैचारिक मतभेद भी हो सकते हैं। सेहत में भी गिरावट होने की आशंका है। इसके अलावा आपके बच्चों के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ सकता है। अगर आप एक छात्र हैं तो आपको अध्ययन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: भैरव मंदिर पर काले रंग का झंडा चढ़ाएं।

कन्या

वैदिक ज्योतिष के अनुसार इस साल केतु आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। कुंडली में चौथा भाव घर-परिवार से संबंधित होता है। केतु का यह गोचर आपके लिए शुभ प्रतीत नहीं हो रहा है। इस वर्ष आपको आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। नौकरी और व्यवसाय में भी तरक्की होने की संभावना कम है। धन संबंधी समस्या आपके जीवन को अधिक प्रभावित कर सकती है। इसके अलावा केतु के इस गोचर के दौरान आपका पारिवारिक जीवन भी प्रभावित हो सकता है। परिजनों में विवाद की स्थिति बनेगी, वे लोग एक-दूसरे को लेकर कुछ गलत सोच सकते हैं या शक कर सकते हैं। ऐसी परिस्थितियों में आप संयम से काम लें। आपकी माता जी की सेहत में भी गिरावट देखने को मिल सकती है अतः उनका विशेष ध्यान रखें। काम का दबाव अधिक होने की वजह से आप पारिवारिक कार्यक्रमों में ज्यादा शामिल नहीं हो पाएंगे। इस साल आय की तुलना में आपके खर्च बढ़ सकते हैं, इसलिए बेवजह के खर्चे न करें और वित्तीय प्रबंधन अपनाएं।

उपाय: भगवान को नीले रंग के पुष्प अर्पित करें

तुला

इस वर्ष केतु का गोचर आपकी राशि से तृतीय भाव में होगा। वैदिक ज्योतिष में तीसरे भाव को सामान्यतः साहस और स्मरण शक्ति का भाव कहा जाता है। इस साल केतु के प्रभाव से तुला राशि के जातकों को अच्छे परिणाम मिलने की संभावना कम है। इस वर्ष आपको कड़ा परिश्रम और संघर्ष करना पड़ेगा। अच्छी बात यह है कि तुला राशि के जातकों को इस साल नौकरी में प्रमोशन मिलने की संभावना है या फिर उन्हें नई जॉब भी मिल सकती है। इस अवधि में आपके साहस और आत्मबल में वृद्धि होगी। कार्यस्थल पर आपको अपने अधीनस्थ कर्मचारियों से सहयोग भी मिलेगा। इसके अतिरिक्त आपके व्यक्तित्व में और निखार आएगा। आपके व्यवहार और भाषा शैली से लोग प्रभावित होंगे। इस बात की भी संभावना है कि आप और अधिक मृदु भाषी होने का प्रयास करेंगे। इस साल आप छोटी दूरी यात्रा पर जा सकते हैं, हालांकि लंबी दूरी की यात्रा करने से बचें। केतु के गोचर के प्रभाव से इस साल आप मजबूत इच्छाशक्ति के साथ आगे बढ़ेंगे।

उपाय: केतु के बीज मंत्र “ॐ स्रां स्रीं स्रौं सः केतवे नमः!” का जाप करें

वृश्चिक

साल 2019 में केतु का गोचर आपकी राशि से द्वितीय भाव में होगा। कुंडली में द्वितीय भाव को धन भाव कहा जाता है। क्योंकि यह भाव धन, आय, संपत्ति और आत्म सम्मान आदि को दर्शाता है। इस भाव में केतु का गोचर वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अच्छा प्रतीत नहीं हो रहा है। केतु के प्रभाव से इस साल आपको आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आमदनी में भी गिरावट होने की संभावना है। इसका अर्थ है कि आपकी नौकरी और व्यवसाय पर कोई बुरा असर पड़ सकता है। इस साल विवादों से बचने की कोशिश करें। भाषा पर संयम रखें और किसी से अपशब्द न कहें। क्योंकि यही विवाद की वजह बन सकते हैं। इस साल आपका पारिवारिक जीवन भी बहुत चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। ऐसी परिस्थितियों का निर्माण हो सकता है जब आपको अपने परिवार से दूर जाना पड़े। केतु के गोचर के प्रभाव से इस साल आपके खर्चों में अचानक बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है। किसी को पैसे उधार देने और किसी पैसे उधार लेने से बचें। धन से संबंधित मामलों में इस साल विशेष सावधानी बरतें। सेहत से जुड़े विकार परेशान कर सकते हैं इसलिए स्वास्थ्य को लेकर बिल्कुल लापरवाही न बरतें।

उपाय: भगवान को नीले रंग के पुष्प अर्पित करें

धनु

केतु का गोचर इस साल धनु राशि में होगा और यह आपकी राशि से प्रथम यानि लग्न भाव में स्थित रहेगा। कुंडली में लग्न भाव को महत्वपूर्ण माना जाता है, इससे मनुष्य के स्वभाव और व्यक्तित्व आदि का बोध होता है। साल 2019 में केतु का गोचर लग्न भाव में होने से धनु राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम मिलेंगे। इस अवधि में आपको अच्छे और बुरे दोनों तरह के अनुभवों का सामना करना पड़ सकता है। इस साल कोई पुरानी बीमारी आपको दोबारा परेशान कर सकती है। अच्छी बात है कि केतु के प्रभाव से आध्यात्मिक विषयों के प्रति आपकी रूचि बढ़ेगी। आपके परिजनों के लिए केतु का यह गोचर थोड़ा निराश करने वाला होगा। इस दौरान उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस साल आपके वैवाहिक जीवन में कोई बड़ा परिवर्तन होने की संभावना है, इसलिए अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें। दूरी और संवाद की कमी आपके और जीवनसाथी के बीच अलगाव की स्थिति पैदा कर सकती है, इसलिए बेहतर होगा कि जीवनसाथी को समय दें और उनकी भावनाओं की कद्र करें।

उपाय: महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करे

मकर

केतु का गोचर इस वर्ष आपकी राशि से द्वादश भाव में होगा। कुंडली में द्वादश भाव हानि, खर्च और रोग आदि को दर्शाता है, इसलिए बारहवें भाव में केतु का गोचर आपके लिए ज्यादा शुभ नहीं रहेगा। इसके फलस्वरुप इस साल धन हानि होने की संभावना बन रही है। आपके खर्च आय की तुलना में अधिक हो सकते हैं। इसलिए वित्तीय प्रबंधन पर ध्यान दें और बेवजह के खर्च न करें। केतु के गोचर के दौरान इस वर्ष आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। वहीं यदि आपके बच्चे हैं तो उनका स्वास्थ्य खराब होने की संभावना है, इसलिए बच्चों की सेहत का विशेष ध्यान रखें। इस साल आपको विदेश यात्रा करने का अवसर मिलेगा। कोशिश करें कि इस साल किसी नये कार्य की शुरुआत न करें, पहले से जो कार्य कर रहे हैं उसमें बेहतर करने की कोशिश करें। यदि कुछ नया करना ही चाहते हैं तो पहले अच्छे से विचार-विमर्श कर लें और फिर आगे बढ़ें। इस साल कार्यस्थल पर आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। किसी भी तरह के कानूनी मामलों में पड़ने से बचें।

उपाय: गरीब व्यक्ति को रंगीन ऊनी कंबल का दान करें

कुंभ

साल 2019 में केतु गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में होगा। वैदिक ज्योतिष में एकादश भाव को शुभ भाव माना जाता है। क्योंकि यह भाव आय, धन और वृद्धि को दर्शाता है। इसलिए ग्यारहवें भाव में केतु का गोचर कुंभ राशि के जातकों के लिए बहुत शुभ रहने वाला है। इस साल आपके जीवन में कई सुनहरे पल और अवसर आएंगे। करियर के क्षेत्र में आप नये मुकाम पर होंगे। इस वर्ष आपको पदोन्नति या नई नौकरी की सौगात मिलने की प्रबल संभावना है। यदि आप व्यवसाय कर रहे हैं तो इस अवधि में आपको अधिक से अधिक लाभ होगा। इस साल आपको धन लाभ होने की भी प्रबल संभावना है। यदि आप छात्र हैं तो इस अवधि में आपकी पढ़ाई में बाधा आ सकती है। एकाग्रता की कमी होने से अध्ययन में मन कम लगेगा। छात्रों को प्रतिष्ठित कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिलने में भी परेशानी हो सकती है। कुंभ राशि के जातकों को साल 2019 में अपने काम पर ध्यान देने की जरुरत होगी। अच्छी बात है कि आपका सामाजिक दायरा इस साल बढ़ेगा।

उपाय: लहसुनिया रत्न पहनें

मीन

केतु आपकी राशि से दशम भाव में संचरण करेगा। हालांकि केतु का यह गोचर मीन राशि के जातकों के लिए शुभ प्रतीत नहीं हो रहा है। इस साल आपको लाभ अर्जित करने के लिए बचत करनी पड़ेगी। कार्यस्थल पर आपको हताशा और निराशा हाथ लग सकती है। बेवजह काम का दबाव होने से आप परेशान हो सकते हैं। वहीं काम का बोझ अधिक होने से आप अपने परिवार और परिजनों को समय देने में असमर्थ रहेंगे। बेहतर होगा कि इस मामले में संतुलन स्थापित करने की कोशिश करें। इस साल आपको अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में सामंजस्य बिठाने की आवश्यकता होगी। अपनी माता जी के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें, क्योंकि उनकी सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है।

उपाय: तिल के तेल का दान करें

More from the section: Astrology
2590
Big Horoscope 2017
Buy Today
Gemstones
Get gemstones Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com More
Yantras
Get yantras Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com More
Navagrah Yantras
Get Navagrah Yantras Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com More
Rudraksha
Get rudraksha Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com More
Today's Horoscope

Get your personalised horoscope based on your sign.

Select your Sign
Free Personalized Horoscope 2018
Reports