• Talk To Astrologers
  • Brihat Horoscope
  • Ask A Question
  • Child Report 2022
  • Raj Yoga Report
  • Career Counseling
Personalized
Horoscope

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023: इस्लामिक पर्व एवं त्यौहार 2023

Author: Vijay Pathak | Last Updated: Wed 21 Sep 2022 4:55:34 PM

एक बार फिर, एस्ट्रोकैंप हाज़िर है इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 लेकर! इस इस्लामिक कैलेंडर के द्वारा आप भारत सहित दुनियाभर में मनाए जाने वाले मुस्लिम समुदाय के त्यौहारों, पर्वों एवं अवकाशों की पूरी सूची प्राप्त कर सकते हैं।

Numerology

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा धर्म है इस्लाम और इसके बड़ी संख्या में अनुयायी हैं। आज के समय में, यह दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाले धर्मों में से एक है। इस्लामी कैलेंडर या हिजरी कैलेंडर, मुस्लिम संस्कृति को बरक़रार रखने वाले सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है। यह कैलेंडर लगभग हर मुसलमान के घर में पाया जाता है क्योंकि इसमें सभी महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में जानकारी होती है।

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 को दुनिया के अन्य हिस्सों में मुस्लिम कैलेंडर, अरबी कैलेंडर, हिजरी कैलेंडर और चंद्र हिजरी कैलेंडर के नाम से भी जाना जाता है। चंद्र या हिजरी कैलेंडर के महीने चंद्रमा की गति के अनुसार शुरू और समाप्त होते हैं। चंद्रमा का लुप्त होना इस बात का संकेत देता है कि महीना ख़त्म होने के करीब आ रहा है। ग्रेगोरियन कैलेंडर की तरह इस्लामिक कैलेंडर में भी कुल 12 महीने होते हैं। आमतौर पर हमारे पारंपरिक कैलेंडर में 365-66 दिन होते हैं, ठीक इसके विपरीत इस्लामिक कैलेंडर में 354-55 दिन होते हैं। हिजरी कैलेंडर को बनाने का श्रेय आधिकारिक रूप से ख़लीफ़ा उमर इब्न-अल-खत्ताब को जाता है। इस कैलेंडर का चलन पैगंबर मोहम्मद की मदीना यात्रा के बाद शुरू हुआ था।

Read In English: Islamic Calendar 2023

दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फ़ोन पर बात और जानें करियर संबंधित सारी जानकारी

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 में आने वाले महीनों के नाम इस प्रकार हैं:

  1. मुहर्रम (सुन्नी) इस्लामिक कैलेंडर का पहला महीना
  2. सफर
  3. रबी-उल-अव्वल (पवित्र पैगंबर के जन्म, हिजरा और मृत्यु का महीना।)
  4. रबी-उल-थानी
  5. जुमादा-अल-उला
  6. जुमादा-अथ-थानी
  7. रजब (सुन्नी)
  8. शाबान
  9. रमजान - इस महीने में पवित्र कुरान का अवतरण होना शुरू हो गया था और इसी महीने में मुसलमान निरंतर 30 दिनों तक उपवास रखते हैं।
  10. शव्वाल - इस महीने के पहले दिन ईद-उल-फितर मनाई जाती है।
  11. धुल कदह (शिया)
  12. धुल हिज्जा (सुन्नी)- इस पूरे महीने में हज किया जाता है और इस महीने के 10वें दिन ईद-उल-अधा यानी कि बकरीद मनाई जाती है।

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023

त्यौहार हिजरी तिथि ग्रेगोरियन तिथि
रजब की शुरुआत (पवित्र महीना) 1 रजब 1444 आह 23 जनवरी 2023
इसरा' मिराजू 27 रजब 1444 आह 18 फरवरी 2023
शाबान का आरंभ 1 शाबान 1444 आह 21 फरवरी 2023
निस्फू शाबान 15 शाबान 1444 आह 7 मार्च 2023
रमजान का आरंभ 1 रमजान 1444 आह 23 मार्च 2023
रमजान के रोजे की शुरुआत 1 रमजान 1444 आह 23 मार्च 2023
नुजुल-अल कुरान 17 रमजान 1444 आह 8 अप्रैल 2023
लैलत-उल-क़द्र 27 रमजान 1444 आह 18 अप्रैल 2023
शव्वाल का आरंभ 1 शव्वाल 1444 एएच 21 अप्रैल 2023
मीठी ईद 1 शव्वाल 1444 एएच 21 अप्रैल 2023
धुल कदह (पवित्र महीने) का आरंभ 1 धुल कदह 1444 आह 21 मई 2023
धुल-हिज्जा (पवित्र महीने) का आरंभ 1 धुल-हिज्जा 1444 आह 19 जून 2023
अराफ़ा (हज) में वुक़्फ़ 9 ज़ुल-हिज्जा 1444 आह 27 जून 2023
ईद उल-अज़्हा 10 धुल-हिज्जा 1444 आह 28 जून 2023
तशरीक़ी के दिन 11, 12, 13 धुल-हिज्जा 1444 आह 29 जून 2023
मुहर्रम का आरंभ (पवित्र महीना) 1 मुहर्रम 1445 आह 19 जुलाई 2023
इस्लामी नववर्ष 1 मुहर्रम 1445 आह 19 जुलाई 2023
आशूरा के उपवास 10 मुहर्रम 1445 आह 28 जुलाई 2023
सफर का आरंभ 1 सफर 1445 एएच 18 अगस्त 2023
रबी अल-अव्वल का आरंभ 1 रबी अल-अव्वल 1445 आह 17 सितंबर 2023
पैगंबर के मौलिद (जन्म) 12 रबी अल-अव्वल 1445 आह 28 सितंबर 2023
रबी अल-थानी का आरंभ 1 रबी अथ-थानी 1445 आह 16 अक्टूबर 2023
जुमादा अल-उला का आरंभ 1 जुमादा अल-उला 1445 आह 15 नवंबर 2023
जुमादा अल-आखिरह का आरंभ 1 जुमादा अल-अखिरा 1445 आह 14 दिसंबर 2023
पाएं अपनी कुंडली आधारित सटीक शनि रिपोर्ट

इस्लामी या हिजरी कैलेंडर का महत्व और उत्पत्ति

इस्लामिक कैलेंडर की शुरुआत दूसरे खलीफा उमर ने 16 आह/637 ई में की थी। हिजरा के बाद से, 622 ई में पैगंबर मुहम्मद का मक्का से मदीना में स्थानांतरित होना, अपने प्रारंभिक वर्षों के दौरान समूचे उम्मा के द्वारा इस्लाम के संरक्षण के लिए किया गया पहला महत्वपूर्ण बलिदान था और इसे ही इस्लामिक कैलेंडर का शुरुआती चरण माना गया था। इस समय के दौरान, हज़रत उमर ने कहा कि "हिज़रा ने वास्तविकता को भ्रम से शुद्ध कर दिया है, इस प्रकार इस युग का युगारंभ होने दें"। हिजरी वर्ष मुस्लिम धर्म के सभी लोगों को पहले के मुसलमानों द्वारा दिए गए बलिदानों को याद करने और उनके समान बलिदान करने के लिए प्रेरित करता है। हिजरी कैलेंडर का नियमित रूप से उपयोग करके मुस्लिम लोग अपनी जड़ों से जुड़े रह सकते हैं। साथ ही अपने धर्म और इतिहास में घटित घटनाओं के बारे में जान सकते हैं।

क्या आपकी कुंडली में हैं शुभ योग? जानने के लिए अभी खरीदें बृहत् कुंडली

सप्ताह में इस्लाम को समर्पित दिन

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 के अनुसार, दिन की शुरुआत शाम से होती है। पारंपरिक तौर पर शुक्रवार के दिन सभी मुस्लिम जुम्मे की नमाज़ अदा करते हैं। सऊदी अरब और मिस्र सहित कई दूसरे मुस्लिम देशों में शुक्रवार-शनिवार या फिर गुरुवार और शुक्रवार को आधिकारिक सप्ताहांत के रूप में मान्यता मिलने के पीछे यही वजह है। हमने आपको 2023 में आने वाले इस्लामी अवकाशों की सूची नीचे प्रदान की है:

क्रमांक नाम अर्थ सौर दिवस रात्रि 12:00 से शुरू हो रहा है
1 अल-अहद एक रविवार
2 अल-इथनैन द्वितीय सोमवार
3 अथ-तुलथʾ तीसरा मंगलवार
4 अल-अरबिशानी चौथा बुधवार
5 अल-खामसी पांचवां गुरुवार
6 अल-जुमाह सभा शुक्रवार
7 अस-सब्त सातवां शनिवार

इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 के लाभ

  • इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 के धार्मिक और सांस्कृतिक अनेक तरह के फायदे हैं। इन्हीं लाभों के कुछ उदाहरण आपको नीचे प्रदान किए गए हैं:
  • इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 के उपयोग से ईद सहित साल 2023 के दूसरे इस्लामिक अवकाशों की योजना समय से पहले ही बनाई जा सकती है, जो लोगों को खुलकर जश्न मनाने में भी सक्षम बनाता है।
  • इस कैलेंडर का उपयोग करते हुए आप सभी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों, जैसे जन्मदिन, वर्षगाँठ और विवाह आदि को पहले से व्यवस्थित कर सकते हैं और आगामी प्रमुख पर्वों एवं त्यौहारों की छुट्टियों पर नज़र बनाए रख सकते हैं।
  • इस कैलेंडर द्वारा कोई इंसान कैलेंडर की प्रकृति के बारे में जान सकता है। साथ ही हिजरी कैलेंडर 2023 का उपयोग करने से चंद्रमा की गति पर दृष्टि रखी जा सकती है क्योंकि ये चंद्रमा की गति और विभिन्न चरणों पर आधारित होता है।
संतान के करियर की हो रही है टेंशन! अभी आर्डर करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट

इस्लामी कैलेंडर 2023 के सबसे महत्वपूर्ण मुस्लिम अवकाश

रमजान (उपवास का पवित्र इस्लामी महीना)

अपनी आत्मा का शुद्धिकरण और जीवन के उच्च मूल्यों को बनाए रखने के लिए, हर मुसलमान रमजान के पवित्र माह के दौरान हर दिन सुबह से शाम तक कठोर व्रत का पालन करता है। ये इस्लामी कैलेंडर का नौवां महीना होता है।

ईद उल-फितर (रमजान माह का अंत)

ईद उल-फितर में मुसलामानों द्वारा तीन दिनों तक त्यौहार मनाया जाता है, जो विशेष प्रार्थनाओं, दावतों, जश्न, बच्चों के लिए उपहार और पड़ोसियों के साथ खुशियों को बाँटने का प्रतीक है।

हज (मक्का की वार्षिक तीर्थयात्रा)

हज में कई प्रकार के अनुष्ठान संपन्न किए जाते हैं, जो मक्का की एक वार्षिक यात्रा है। यह इस्लामी मान्यताओं का प्रतिनिधित्व करती है, जिसमें ईश्वर के प्रति समर्पण, सौहार्द और एकता आदि शामिल है। हज के द्वारा पैगंबर अब्राहम और उनके परिवार के संघर्षों के प्रति सम्मान व्यक्त किया जाता है। मान्यता है कि एक मुसलमान को अपने जीवनकाल में एक बार हज अवश्य करना चाहिए, लेकिन तब, जब उस इंसान के पास हज करने के पर्याप्त साधन हों। इस तीर्थयात्रा पर सालाना दो से तीन मिलियन मुसलमान यात्रा के लिए जाते हैं।

ईद उल-अधा (बलिदान का पर्व)

यह पर्व तीन दिनों तक निरंतर चलता है और इसकी शुरुआत हज के तीसरे दिन से होती है। यह दिन इब्राहिम के सम्मान में मनाया जाता है, जो अपने बेटे का बलिदान करने के लिए तैयार थे। जिसे चमत्कारिक रूप से एक मेमने में परिवर्तित कर दिया गया था। इस दिन मुसलमानों द्वारा बलि देने की परंपरा है। साथ ही इस दिन दोस्तों और परिवार के साथ तोहफे एवं मिठाइयां बांटने का भी रिवाज है।

मुहर्रम (इस्लामिक नववर्ष का आरंभ)

इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, इस्लामिक नववर्ष के पहले महीने का पहला दिन होता है मुहर्रम। पैगंबर मुहम्मद और उनके साथियों के मक्का से मदीना तक की यात्रा को हिजरा ने इस्लामी कैलेंडर के प्रारम्भ के रूप में चिह्नित किया है। इस्लामिक इतिहास में, यह घटना अत्यंत महत्वपूर्ण मानी जाती है क्योंकि यह मक्का में अत्याचार के अंत और मदीना में एक गैर-मान्यता प्राप्त समुदाय के परिवर्तन का संकेत देती है।

आशूरा

इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, मुहर्रम के दसवें दिन आशूरा मनाया जाता है। इस दिन पैगंबर के पोते हुसैन, अपने परिवार और अन्य सहयोगियों के साथ शहीद हो गए थे। इस दिन शिया और सुन्नी शोक प्रकट करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं और उनका उदाहरण आज भी दुनिया के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बना हुआ है। अशूरा पर सुन्नियों द्वारा उपवास किया जाता है, जो मिस्र से मूसा के प्रस्थान की वर्षगांठ और दूसरी महत्वपूर्ण भविष्यवाणी की घटनाओं की याद भी दिलाता है।

ईद-उल-मिलादी

ईद-उल-मिलादी के दौरान पैगंबर मुहम्मद की जयंती मनाई जाती है। सुन्नी मुस्लिम इसे इस्लामिक कैलेंडर के तीसरे महीने में रबी उल-अव्वल के 12वें दिन मनाते हैं, जबकि शिया इसे रबी उल-अव्वल के 17वें दिन मनाते हैं। इस दिन मुसलमानों द्वारा पैगंबर को जीवन की शिक्षाओं के लिए याद किया जाता है, इसलिए उनके सम्मान में कई तरह की प्रार्थनाएं की जाती हैं। इस अवसर को चिह्नित करने के लिए लोगों द्वारा जरूरतमंदों को दान दिया जाता है।

लैलत अल-क़द्री

शक्ति की रात के रूप में इस पर्व को दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा उस रात के रूप में मनाया जाता है, जब पैगंबर मुहम्मद ने कुरान का अवतरण किया था और पवित्र पुस्तक कुरान की पहली आयत पढ़ी थी।

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर 2023 लेख जरूर पसंद आया होगा। ऐसे ही और भी लेख के लिए बने रहिए एस्ट्रोकैंप के साथ। धन्यवाद !
More from the section: Horoscope 3419
Buy Today
Gemstones
Get gemstones Best quality gemstones with assurance of AstroCAMP.com More
Yantras
Get yantras Take advantage of Yantra with assurance of AstroCAMP.com More
Navagrah Yantras
Get Navagrah Yantras Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroCAMP.com More
Rudraksha
Get rudraksha Best quality Rudraksh with assurance of AstroCAMP.com More
Today's Horoscope

Get your personalised horoscope based on your sign.

Select your Sign
Free Personalized Horoscope 2022
© Copyright 2022 AstroCAMP.com All Rights Reserved